अपने लीवर को मजबूत कैसे करें लीवर मजबूत करने के आसान घरेलू उपाय

अपने लीवर को मजबूत कैसे करें लीवर मजबूत करने के आसान घरेलू उपाय

How to strong liver at home – लिवर हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है हम जो भी खाते पीते हैं सब कुछ हमारे लीवर में पहले जाता है उसके बाद हमारे शरीर को लीवर के  द्वारा पोषण पहुंचता है लिवर यदि कमजोर पड़ जाए तो  हल्का सा भी खाना हमारे लिए मुश्किल बन जाता है लीवर हमारे शरीर का मशीन  इंजन होता है यदि हम अपने लिवर की सही से देखभाल नहीं करेंगे या जीवन में आने वाली कमियों को नजरअंदाज करते रहेंगे तो हम बहुत बड़ी समस्या में भी पड़ सकते हैं क्योंकि यदि लीवर में कोई बहुत बड़ी दिक्कत आ गई तो आपका शरीर किसी काम के लायक नहीं रह जाता जीवन में खाना पीना ही सबसे महत्वपूर्ण होता है।

यदि आप एक अन्न का दाना भी खाते हैं तो वह अन्न का दाना हमारे लीवर में ही सबसे पहले जाता है यदि हमारा लीवर कमजोर है तो वह पाचन नहीं करेगा पाचन नहीं करेगा तो शरीर में खाया हुआ खाना जहर बनता है। जो शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियों को पैदा करता है। लीवर को मजबूत रखना बहुत ही जरूरी होता है जिससे कि हमारे शरीर को पोषण भी मिलता रहे। और शरीर में किसी भी प्रकार की कमजोरी ना रहे यदि आपको नहीं पता कि अपनी लीवर को कैसे स्वस्थ रखा जाता है। और मजबूत रखा जाता है।

यदि आप चाहते हैं कि जो भी खाएं वह हमारे शरीर में वह पोषित हो तो आपको लीवर के बारे में यह जानकारियां जाननी चाहिए जिससे फॉलो करके आप अपने कमजोर लीवर को घर बैठे बिना किसी एलोपैथ दवा के इस्तेमाल आप अपना लीवर मजबूत कर सकते हैं। और पाचन क्रिया को सुधार सकते हैं। जानने के लिए बने रहे हमारे साथ चलिए शुरू करते हैं.

क्या है लीवर मजबूत करने के आसान घरेलू उपाय

what is treatment of strong lever at home – जैसा कि हम जानते हैं लीवर हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग है या यूं कहें कि लीवर हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है तो गलत नहीं होगा क्योंकि लिवर हमारे शरीर का ऐसा अंग है जहां से हमारा शरीर पोषित होता है लीवर ही हमारे द्वारा खाए गए भोजन को पचाने का काम पड़ता है। पचाने के बाद प्रत्येक अंगों को पोषण पहुंचाता है। जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। यदि कभी किसी स्थिति में हमारा लीवर कमजोर पड़ जाए तो हमारी पाचन क्रिया खराब हो जाती। कुछ भी खा।या पिया शरीर को नहीं लगता और अनेक समस्याएं शरीर में उत्पन्न होने लगती हैं हमारे शरीर में लीवर का काम होता है। हमारे द्वारा खाए गए कि नहीं भोजन को पचाना भोजन की अच्छी चीजों को शरीर के पोषण में लगाना तथा वेस्ट मटेरियल को मल मूत्र के द्वारा बाहर निकाल देना।

लीवर की वजह से ही हमारा शरीर सेहतमंद और बलवान दिखता है लीवर जितना अच्छा काम करता है उतना ही हमारा स्वास्थ्य अच्छा होता है। और हम सामान्य जिंदगी जीते हैं यदि लीवर में समस्या आ जाए तो फिर समझिए कि हमारे शरीर का मेन तंत्र गड़बड़ हो रहा है। यदि लीवर मैं किसी प्रकार का डैमेज हो सकता हो जाए लिवर काम करना बंद कर दे तो व्यक्ति का जीना मुहाल हो जाता है।

लीवर कमजोर होने से आने वाली समस्या

छोटी-छोटी कमियों को लोग इग्नोर करते रहते हैं इधर उधर की दवाई खाकर सही करने का प्रयास करते हैं किंतु कुछ दिनों बाद वही समस्या फिर आ जाती है। शरीर में ज्यादा गैस और एसिड बनने लगता है वात पित्त कफ असंतुलित हो जाता है। इसी वजह से हमारे शरीर में बीमारी आने लगती है यदि हम लीवर के शुरुआती संकेतों को समझ कर उस पर काम करना शुरू कर दें तो जीवन में हम कभी भी बीमार नहीं पड़ेंगे । यदि  लीवर में हमारे कोई भी समस्या है तो हमें तुरंत उसका उपचार करना चाहिए ना कि उसे टालना चाहिए। यदि शुरुआत में ही हम समस्या से निपटने लगे तो हम आगे किसी भी बड़े खतरे से नहीं जूझना पड़ता। आजकल के दूषित खानपान तथा प्रिजर्वेटिव पैकेट बंद बाजा के पानी की वजह से हमारे लीवर को शरीर को कई गुना मेहनत करनी पड़ती है।

  • जिसकी वजह है हमारा स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता छोटी उम्र में बीपी शुगर थायराइड जोड़ों के दर्द से फड़े में दिक्कत सांस की दिक्कत चलने फिरने की दिक्कत कई तरह की दिक्कतें आने लगती हैं। जिसकी शुरुआत हमारे कमजोरव पाचन तंत्र से से ही होती है।
  • जब भी हमारा पाचन तंत्र ठीक नहीं होगा हमें परेशानियां आगे आएंगे संतुलन बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी होती है। समय पर इलाज करना हमारी जिम्मेदारी होती है। इलाज करने का यह मतलब नहीं कि आप थोड़ा सा भी दर्द हुआ तो ऊट पटांग की दवाएं खाना शुरु कर दें बिना किसी विशेषज्ञ के झोलाछाप लोगों से दवा खाना शुरु कर दें।
  • यह इलाज नहीं होता यह जहर खाना होता है इसमें शरीर में किसी भी प्रकार की दिक्कत हो तो उसे सही उपचार देने की कोशिश करनी चाहिए। उटपटांग दवाओं के बजाय हमें सही उपचार करने चाहिए। आज हम आपको बताएंगे कि आप पहले अपने लीवर को घर में रहकर भी मजबूत कर सकते हैं।
  • यदि आप का पाचन तंत्र सही से काम नहीं कर रहा आप खाया पिया शरीर में नहीं लग रहा लिवर से जुड़ी समस्याएं आपको बनी रहती हैं तो आपको इस आर्टिकल को पढ़ना चाहिए इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आप कैसे घर की चीजों से अपने पेपर को पाचन तंत्र को मजबूत बना सकते हैं।

लीवर मजबूत करने के उपाय

अपने लीवर का ख्याल करना हमारी जिम्मेदारी होती है जिससे कि हमारा शरीर हष्ट पुष्ट और घोषित बलवान गए इसके लिए हमें बहुत ज्यादा खुश नहीं करना पड़ता। केवल घर की ही चीजों से सही उपयोग करके अपने शरीर को स्वस्थ करते कर सकते हैं। हमें बाहर जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। पेट का ध्यान रखने तथा पेट की मजबूती को बढ़ाने के लिए सबसे पहला नंबर आता है हमारे घर में आपके घर में यूज होने वाले हर मौसम में उपलब्ध रहने वाले

नींबू

जी हां नींबू फल है या सब्जी है जिसकी मदद से आप अपने लीवर को क्लीन वह हेल्दी रख सकते हैं आपने सुना होगा जब कभी भी हमारे घर की बर्तनों में ज्यादा कालिख लग जाती है । यह बड़ी बुरी तरह से गंदगी लग जाती है। तो हम उसे साफ करने के लिए नींबू का सहारा लेते हैं।यहां तक जितने भी डिटर्जेंट पाउडर आते हैं जितने भी दाग धब्बे छुड़ाने वाले प्रोडक्ट मार्केट में उपलब्ध हैं। उनमें नींबू का बेहद महत्वपूर्ण योगदान रहता है सारे प्रोडक्ट में नींबू की मात्रा जरूर मिलाई जाती है नींबू की वजह से खराब से खराब दाग धब्बे जले बर्तन के धब्बों को छुड़ाया जाता है।

इसे आप नींबू की ताकत का अंदाजा लगा सकते हैं यदि वह खतरनाक दाग धब्बे को भी धो सकता है तो हमारे पेट की गंदगी को क्यों नहीं। ऐसा इसलिए क्योंकि नींबू को हम खाने के लिए भी प्रयोग करते हैं इसलिए नींबू का प्रयोग बताया गया है।

उसी प्रकार नींबू का उपयोग हम अपने पेट की सफाई के लिए भी उपयोग करते हैं जब कभी भी हमारे शरीर में एसिड तथा गैस बन जाने पर हम नींबू पानी का उपयोग करके पेट को सही करते हैं ऐसा आपने भी किया होगा जिस प्रकार बर्तन को साफ करने के लिए कपड़े में दाग धब्बे पोस्ट डालने के लिए हम नींबू का उपयोग करते हैं उसी प्रकार हम अपने पेट में जमा गंदगी को पेट से बाहर निकाल कर अपने पेट को भी साफ कर सकते हैं। नींबू खाने में भी लोगों को पसंद होता है। साथ ही इसके कई औषधीय गुण होने की वजह से यह बाकी फलों से सब्जियों से अलग और इंपॉर्टेंट माना जाता है।

नींबू का उपयोग

सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ शुरू कर दें तो आप देखेंगे कि हफ्ते भर में आप की पेट की सारी गंदगी बाहर निकल गई है।

और आपका पेट भी हल्का हो गया है जब पेट आपका हल्का हो जाएगा तो पाचन क्रिया भी मजबूत हो जाएगी आपका खाया पिया लीवर आपका पोषित करेगा और आपको  हेल्थी रखेगा नींबू को हम कई प्रकार से उपयोग कर सकते हैं हम नींबू की चाय बनाकर पी सकते हैं नींबू को अपने भोजन सलाद में उपयोग कर सकते हैं तथा सुबह पानी के साथ तो हमें इसे पीना ही चाहिए आप सुबह पीना शुरू करें बाकी दिन में भी यदि समय मिले तो आप नींबू का उपयोग करना शुरू कर दें। यह आपके लिए बको डिटॉक्स कर देगा आप पहले से हल्का महसूस करने लगेंगे आपके पेट की जिंदगी साफ होने लगेगी।

 लहसुन

जिसे अंग्रेजी में गार्लिक भी बोला जाता है लहसुन के औषधीय गुण से हर कोई वाकिफ है हर कोई जानता है कि लहसुन हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

लहसुन को भले ही कम मात्रा में खाया जाता है किंतु उसकी कम मात्रा ही हमारे शरीर के लिए बहुत उपयोगी साबित होती है ।लहसुन का प्रयोग हमारे शरीर में लीवर को कार्य क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है लहसुन खाने से हमारे शरीर में लीवर की पाचन शक्ति बढ़ती है लीवर में  उपलब्ध पाचन करने वाले एंजाइम लहसुन खाने की वजह से मजबूत होते हैं। तथा हमारे पाचन क्रिया में दोगुनी रफ्तार आ जाती है।

लहसुन का मात्रा में खाया जाता है यह एंटीऑक्सीडेंट तथा इम्यूनिटी बूस्टर की तरह हमारे शरीर में लाभ पहुंचाता है लीवर के लिए लहसुन अमृत का समान काम करता है। यह बैड बैक्टीरिया को खत्म करके गुड बैक्टीरिया बनाने का काम पड़ता है।

जिससे कि हमारे शरीर में उपलब्ध गंदगी तथा जहरीले विषाक्त पदार्थ नष्ट होकर मल मूत्र की जगह से बाहर निकल जाते हैं लीवर को डिटॉक्स करने का सबसे अच्छा उपाय लहसुन खाने का उपाय माना जाता है।

लहसुन का उपयोग

यदि आप सुबह 1,2 जवा लहसुन की खा सकें बासी मुंह तो आप देखेंगे कि आपकी शरीर की सारी गंदी मल मूत्र के रास्ते निकलनी शुरू हो जाएगी और आप हफ्ते भर में खुद को पहले से हल्का और हेल्थी महसूस करेंगे ।

 हल्दी

हल्दी के गुण से हर कोई वाकिफ है हल्दी एक ऐसी एंटीबायोटिक है जो प्रकृति ने हमें उपहार के तौर पर दिए बड़ी से बड़ी अच्छी से अच्छी एंटीबायोटिक दवा हल्दी के सामने बेकार हैं। हल्दी के औषधीय गुण का अंदाजा नहीं लगा सकते हल्दी हमारे शरीर के हर अंग के लिए बहुत जरूरी है। हल्दी में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की कमी नहीं है लीवर के लिए हल्दी बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। यदि हल्दी का सेवन प्रतिदिन करने लग जाए तो हमारे शरीर में मौजूद पाचन एग्जाम पहले से ज्यादा काम करने लगेंगे। और हमारे शरीर की शुद्धि भी होती रहेगी।

हल्दी के उपयोग से हमारा लीवर क्लीन ग्रीन हो जाएगा और हमें हल्का पन महसूस होगा और हम खुद को हिंदी भी बना पाएंगे खाना पीना भी लगने लगेगा हमें किसी भी प्रकार के बीमारी का सामना नहीं करना पड़ेगा। अभी यदि  आप शुरू कर दें तो आप सभी लीवर संबंधी कोई भी दिक्कत नहीं रहेगी।

 ग्रीन टी

ग्रीन टी आपको अंग्रेजी नाम लग रहा है किंतु यह उत्पत्ति हमारे पूर्वजों ने ही की थी केवल नाम अंग्रेजों का है बाकी सारी बनाने का प्रोसेस और यूज़ करने का प्रोसेस देसी ही है। केवल नाम दिया है ग्रीन टी हिंदी में काढ़ा बोलते हैं ग्रीन टी हर्बल पतियों द्वारा तैयार की जाती है। पत्तियों में अमृत्तुल्य गुण होते हैं ऐसा सबको पता है हर्बल का मतलब ही होता है पत्तियों से बना कोई प्रोडक्ट ग्रीन टी हर्बल टी के नाम से भी जानी जाती है। यह ग्रीन टी यदि आप दिन में तीन बार पीना शुरू कर दें। तो आपके लीवर की जिंदगी बाहर होना शुरू हो जाएगी आपका लिवर डिटॉक्स हो जाएगा। और पहले की अपेक्षा ज्यादा काम करने लायक हो जाएगा। जिससे आपका पाचन क्रिया भी मजबूत होगा साथ ही खाया पिया भी आपके शरीर में घोषित होगा।

ग्रीन टी के अनेक फायदे हैं

क्योंकि यह हर्बल हरी पत्तियों के द्वारा तैयार की जाती है इसलिए जब भी दिया बनाएंगे गरम गरम शरीर में आपसे ग्रीन टी जाएगी तो लीवर में फेफड़े में किडनी में मौजूद खराब तक खुद ब खुद नष्ट होने शुरू हो जाएंगे गंदगी भी साफ होनी शुरू हो जाएगी और आपको जो भी परेशानी आ रही है वह उस से निजात मिलने शुरू हो जाएगी। आपको ग्रीन टी का सेवन दिन में तीन बार करना चाहिए।

 हरी सब्जियां

  • हरि वेजिटेबल को खाना सेहत के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है आप अपनी सेहत बनाना चाहते हैं तो आप केवल वेजिटेबल कच्ची ही खाइए और अच्छी मात्रा में खाना शुरु कर दीजिए। जितने भी गंभीर से गंभीर बीमारियां आपके शरीर में हैं सारी 15 से 20 दिन के अंदर में ठीक होना शुरू हो जाएंगी।
  • हरी वेजिटेबल्स में पत्तेदार तथा छिलके दार जो भी सब्जी आते हैं उन्हें आप भरपूर मात्रा में खाना शुरू कर दीजिए यदि आप लीवर की गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं। तो आपको ग्रीन वेजिटेबल को खाने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। जितना आप ग्रीन वेजिटेबल्स का सेवन करेंगे उतनी जल्दी ही आपके शरीर में ताकत बढ़ेगी ।
  • लीवर के काम करने की क्षमता भी बढ़ेगी ग्रीन वेजिटेबल खाने से हमारे शरीर में जितने भी प्रकार की जिंदगी तथा विषैले पदार्थ होते हैं उन्हें ग्रीन वेजिटेबल की वजह से बाहर निकलना पड़ता है।
  • वेजिटेबल की खास बात या होती है क्या बहुत ही आसानी से पच जाते हैं और शरीर को सारे जरूरी पोषक तत्व उपलब्ध कराते रहते हैं। सब्जियों में हर प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं इसलिए डॉक्टर हरी वेजिटेबल को खाने के लिए लोगों को बोलते हैं।

लिवर को स्ट्रांग बनाने की आयुर्वेदिक दवा

1.Baidyanath Liverol
2.Himalaya liv 52
3.Patanjali liv amrit

फैटी लीवर की होम्योपैथिक दवा

1.Bahola Liverol Syrup

आपको किसी भी प्रकार का मांस मदिरा वह अंडे मुर्गी खाने की कोई जरूरत नहीं आप शाकाहारी रहकर भी अच्छे से अपनी सही का स्वास्थ्य का ध्यान रख सकते हैं। और अपने जीवन को मजबूत कर सकते हैं इन सारे नियमों को यदि आप अप्लाई करेंगे तो आपका लीवर बहुत जल्द ही पटरी पर आ जाएगा। और पहले की अपेक्षा ज्यादा काम करने लायक हो जाएगा। केवल यह सारे घरेलू उपाय है यह करने में आपको कोई समस्या नहीं होनी चाहिए इसमें किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं है। जो भी चीजें बताई गई  वह सारी चीजें घर में उपलब्ध होती हैं। आपका ₹1 भी खर्च नहीं होना है घर की चीजों से आप स्वस्थ रहिए मस्त रहिए इधर उधर की  दवाओं को खाने से बचें।

लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि लिवर की सफाई कैसे करे लिवर को स्ट्रांग बनाने की दवा लिवर को स्वस्थ कैसे रखें लिवर खराब की पहचान लिवर इन्फेक्शन में क्या खाना चाहिए लिवर में इन्फेक्शन के लक्षण फैटी लीवर की होम्योपैथिक दवा

Leave A Reply

Your email address will not be published.