नाक से खून बहना इसके लक्षण व उपचार

नाक से खून बहना इसके लक्षण व उपचार

वैसे तो आज के समय में किसी भी इंसान को कोई भी बीमारी उत्पन्न हो सकती है लेकिन कई बार हमारे शरीर में बीमारी उत्पन्न होने का कारण बदलता हुआ मौसम भी होता है क्योंकि ऐसे कई मौसमी रोग होते हैं जो कि एक विशेष मौसम में ही उत्पन्न होते हैं लेकिन ज्यादातर देखा गया है कि गर्मी के मौसम में कई अलग-अलग प्रकार की बीमारियां उत्पन्न होती है.

इनमें से कुछ आम बीमारियां होती हैं लेकिन कई खतरनाक बीमारियां होती है इसी तरह से गर्मी के मौसम में उत्पन्न होने वाली एक समस्या नकसीर पटना यानी नाक से खून बहना भी है जो कि एक खतरनाक बीमारी है तो आज इस ब्लॉग में हम नकसीर फूटने के लक्षण, इसके कारण व उपचार आदि के बारे में बात करें

नाक से खून बहना

नकसीर पटना या नाक से खून बहना दोनों एक ही रोग के नाम हैं लेकिन जब यह समस्या किसी इंसान को उत्पन्न होती है तब उस इंसान की नाक से अपने आप खून बहने लगता है और यह समस्या ज्यादातर गर्मियों के दिनों में उत्पन्न होती है लेकिन जब किसी को नाक से खून बहना शुरू होता है तब यह मामूली उपायों से ठीक भी हो सकता है लेकिन अगर किसी इंसान को यह समस्या बार-बार लगातार हो रही है तब यह उसके लिए खतरनाक साबित हो सकती है क्योंकि जब किसी इंसान के शरीर से खून निकलने लगता है तब उसके शरीर में कमजोरी आना शुरू हो जाती है और वह दूसरे कई रोगों से भी ग्रस्त हो सकता है

नाक से खून बहने के कारण

जब किसी इंसान को नाक से खून बहने की समस्या उत्पन्न होती है तब उसके पीछे कई कारणों का हाथ हो सकता है लेकिन उसमें से कुछ ऐसे मुख्य कारण होते हैं जो कि अक्सर इस समस्या का कारण बनते हैं जैसे नाक में बार-बार उंगली डालना, ज्यादा इस गर्मी में बाहर घूमना, ज्यादा गर्म दवाइयों का सेवन करना, पुराना जुकाम, नाक गहरी चोट लगना, उच्च रक्तचाप होना,ज्यादा मिर्च मसालेदार पर खट्टे पदार्थों का सेवन करना ज्यादा, उत्तेजक पदार्थों का सेवन करना, ज्यादा अचार, सिरका दही और शराब आदि का सेवन करना, यकृत रोग से ग्रस्त होना इसके अलावा किसी बीमारी से ग्रस्त होना जैसे उच्च रक्तचाप, कुकुर खांसी, निमोनिया,नाक में सूजन, टाइफाइड, कैंसर आदि तो यह कुछ ऐसे कारण हैं जिनसे किसी भी इंसान को गर्मियों के मौसम में नाक से खून बहने की समस्या उत्पन्न हो सकती है

नाक से खून बहने के लक्षण

जिस तरह से नाक से खून बहने की कई कारण होते हैं उसी तरह से इस समस्या के उत्पन्न होने के कई लक्षण भी दिखाई देते हैं जैसे शरीर में भारीपन महसूस होना, चक्कर आना, सिर में दर्द रहना, नाक से खून आने से पहले सिर का भारी होना, इसके अलावा खून बिल्कुल लाल व चमकदार होगा, कभी-कभी उल्टी की समस्या उत्पन्न हो सकती है, या नाक का खून पेट में भी चला जाता है, खांसी आने पर मुंह से खून निकलना, हाथ पैरों में दर्द होना, अरुचि और दुर्लबता होना, शरीर में आलस रहना, शरीर कमजोर होना, थकावट महसूस होना, बार-बार सोने का मन करना, ऐसे कई लक्षण होते है.

क्या खाना चाहिए

जब किसी को यह समस्या उत्पन्न हो जाती है तब उस इंसान को खान-पान के ऊपर भी ध्यान देने की जरूरत होती है क्योंकि कई बार यह समस्या शरीर के खाए गए पदार्थों की गर्मी से भी उत्पन्न हो सकती है

  • आपको हमेशा आंवले का मुरब्बा भोजन के साथ खाना चाहिए
  • आपको हर रोज एक गिलास दूध में दो पके हुए केले मिलाकर सेवन करना चाहिए
  • आपको हमेशा हल्का और सुपाच्य भोजन ग्रहण करना चाहिए
  • आपको हर रोज दिन में संतरे का जुस दो बार पीना चाहिए
  • दो चम्मच गुलकंद सुबह शाम दूध के साथ हर रोज लेना चाहिए
  • आपको सुबह-शाम भोजन के बाद दो टुकड़े पेठा खाना चाहिए
  • आपको हर रोज एक चम्मच मिश्री एक कप अनार के रस मिलाकर पीना चाहिए

क्या नहीं खाना चाहिए

  • आपको ज्यादा उत्तेजक पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए चाय, कॉफी, तंबाकू, धूम्रपान आदि
  • आपको ज्यादा मिर्च मसालेदार भोज्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको कम से कम मांस मछली अंडा और लहसुन का सेवन करना चाहिए
  • आपको ज्यादा तले भुने व खट्टे भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको गर्मी के मौसम में बर्फ का सेवन नहीं करना चाहिए

क्या करना चाहिए

  • आपको हर रोज ठंडे पानी से स्नान करना चाहिए और सर में ठंडा पानी डालना चाहिए
  • खून आने पर रोगी को चित्त लेटा कर नाक पर बर्फ लगाएं व सिर में ठंडा पानी डाले
  • आपको रोगी को ज्यादा से ज्यादा मीठे अंगूर का रस, धनिए के पत्ते और नींबू का रस पिलाना चाहिए
  • जो भी रस उपलब्ध हो सके उसकी दो बूंदे नाक में डालनी चाहिए

क्या नहीं करना चाहिए

  • आपको ज्यादा देर तक धूप में काम नहीं करना चाहिए
  • आपको गर्मी के मौसम में गर्म पानी से स्नान नहीं करना चाहिए
  • आपको गर्मी के मौसम में ज्यादा कठोर कार्य नहीं करने चाहिए वह सिर पर वजन नहीं उठाना चाहिए
  • आपको नाक में पेन पेंसिल व उंगली नहीं डालनी चाहिए
  • आपको नाक के बाल व पपड़ी को जबरदस्ती नहीं निकालना चाहिए

फिर भी अगर आपको यह समस्या बार-बार उत्पन्न हो रही है तब आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए या आप कुछ आयुर्वेदिक चीजों का भी इस्तेमाल करके इस समस्या से पीछा छुड़वा सकते हैं. आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही आयुर्वेदिक चीजों का  इस्तेमाल करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.