रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले 8 फल

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले 8 फल

प्रतिरोधक क्षमता यानी कि रोगों से लड़ने की की ताकत र इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के लिए प्राकृतिक की बात करें तो ऐसे 8 साल लेकर हम आपके लिए  हैं जिन्हें प्रयोग करके आप अपनी आंतरिक शक्ति को बढ़ा सकते हो बड़े से बड़े रोगों से लड़ने की क्षमता शरीर में ला सकते हैं। जब तक आप अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत नहीं करेंगे। तब तक आप बीमारियों से ग्रसित रहेंगे और बीमारियां आपके अंदर आसानी से प्रवेश करती रहेंगी।

प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने मार्केट में कई तरह के सप्लीमेंट आते हैं जो दावा करते हैं 7 दिनों में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए बेहद ही कम दामों में किंतु यह सारे भ्रामक प्रचार होते हैं। प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए बेसिक चीजों पर ध्यान दिया जाता है ना कि ज्यादा पैसा खर्चा कर इतने की जरूरत होती है। पहले के लोगों को आप देखते होंगे उन्हें सहने की क्षमता कितनी होती थी रोगों से लड़ने की क्षमता कितनी होती थी 1 आदमी 100 साल से आराम से जिंदगी जीता था किंतु आजकल के लोग 60 साल भी नहीं जी पाते ठीक से यह सब कारण होते हैं।

शरीर में क्षमता ना होना प्रतिरोधक क्षमता खराब होना किसी भी बीमारी में आसानी से पढ़ जाना किसी को दूर करने के लिए आज हम आपके लिए लाए हैं। एक ऐसा डाइट घरेलू तथा सस्ते फल जिन्हें खाकर आप आसानी से अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं और यह फल आपको अंदर से मजबूती भी देंगे। और बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी देंगे वह भी बेहद कम खर्च में जाने के लिए बने रहे हमारे साथ चलिए शुरू करते हैं.

 क्या है प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के 8 फल

what is eight fruit for boost immunity power – यदि हम प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए फलों की बात करें तो बड़ी आसानी से यह पल आपको उपलब्ध हो जाएंगे और लोग अक्सर इनको अपने घर में रखते भी किंतु उन्हें इसका ज्ञान ना होने पर इन के फायदों का ज्ञान ना होने पर उसका प्रयोग उस तरीके से नहीं कर पाते। जितना उसे करना चाहिए प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए किसी भी बाहरी प्रोडक्ट को खरीदने की कोई जरूरत नहीं है। आपके घर में ही वह सारी चीजें उपलब्ध हैं जिनसे आप अपने शरीर की क्षमता को बढ़ा सकते हैं शरीर में पावर की जरूरत होती है। ताकि हर परिस्थिति से निपटा जाए जिसकी इम्युनिटी पावर ठीक होती है। वह कितना जल्दी बीमारी से ठीक हो जाता है किंतु जिसकी कमजोर होती है वह एक बार बीमारी आ जाने के बाद बहुत दिनों बाद ठीक होता है। जिसका प्रमाण होता है इम्यूनिटी पावर कमजोर होना।

आज हम आपके लिए 8 ऐसे फल लेकर आए हैं जिसे जानकर आप आश्चर्यचकित होंगे क्योंकि यह आपके घर में ही उपलब्ध होते हैं। ऐसे फल जो आपको बहुत जल्द ताकतवर और क्षमता वान बनाने में मदद करेंगे आप की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे।

 प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण

  • यदि प्रतिरोधक क्षमता की कमजोरी के कारण पर ध्यान दिया जाए तो इसका मेन कारण होता है हमारे शरीर में खाया पिया ना रखना।
  • हम जो भी खाते हैं वह शरीर में पोषित नहीं होता इसे ऐसे समझें यदि आप किसी बर्तन में पानी भर रहे हैं और इसके नीचे का तल में छेद कर रहे हैं।
  • तो आप जितना भी पानी भरेंगे वह कभी भर नहीं जाता क्योंकि उस बर्तन में नीचे छेद होता है जितना आप भरेंगे उतना सब निकल जाता है और हमें खाली बर्तन ही नसीब होता है।
  • यही कारण होता है कि शरीर में हम जो कुछ भी खाते हैं वह बिना पूछे बिना पोषित हुए मल द्वार द्वारा निकल जाता है और हमें पोषण नहीं मिल पाता यही कमजोर होने के कारण होते हैं।
  • यदि वही खाना हमारे शरीर में पाचन होने लगे शरीर को घोषित होने लगे और उसके बाद मल त्याग के लिए जाएं तो हमारी इम्यूनिटी पावर सोता ही बढ़ने लगती है।
  • इसीलिए हमें कुछ ऐसी चीजों का उपयोग करना होता है जिससे कि हमारे शरीर में खाया हुआ शरीर को पोषित करें और शरीर में ऊर्जा का नया संचार करें।
  • यदि आप को भूख नहीं लगती आपका किसी काम में मन नहीं लगता किसी काम को करने से पहले थकान आ जाती है चलने में सांस फूलती है चक्कर आते हैं।
  • शरीर में किसी प्रकार की दिक्कतें बनी रहती हैं एक बार रोगों से संपर्क होने के बाद दुबारा बहुत दिनों बाद निजात मिलती है तो यह सारी इम्यूनिटी पावर कमजोर होने के कारण होते हैं।

इन्हें बढ़ाने के लिए आपको किसी मार्केट सप्लीमेंट की जरूरत नहीं जो आज हम बताएंगे उन्हें फॉलो करना है डाइट में शामिल करना है और यह बड़ी आसानी से आपको मिल भी जाएंगे घर में उपलब्ध होते हैं यकीन मानिए यदि आपने अपनी दिनचर्या में डाइट में शामिल किया तो बहुत जल्द आप क्षमता बन बन जाएंगे इनमिटी पावर आपकी अच्छी हो जाएगी बिना किसी बाहरी इलाज चाहिए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले 8 फल

जब भी अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का नाम लिया जाएगा जब भी परेशानी का नाम लिया जाएगा तो सबसे पहले जो फल हमें किसी भी विशेषक द्वारा बताया जाएगा। उसका नाम है। एंटीऑक्सीडेंट रिच फूड यह से फल होते हैं जिनको इम्युनिटी बढ़ाने में तथा शरीर मजबूत करने में बिल्कुल भी समय नहीं लगता ज्यादातर मार्केट में मिलने वाले दावे करने वाले सप्लीमेंट में इन्हीं का प्रयोग किया जाता है। लेकिन हमें बताया नहीं जाता ना ही उन प्रोडक्टों में इंग्रेडिएंट्स में यह चीजें मेंशन होते हैं एंटीऑक्सीडेंट रिच फूड की बात करें तो इसमें अदरक लहसुन बेरीज प्याज टमाटर कर दो कद्दू यह सारे विटामिन ई विटामिन ए तथा विटामिन सी की मात्रा से भरपूर होते हैं यह हमारे शरीर में जाकर शरीर के पहले सफाई करते हैं फिर पोषण शुरू कर देते हैं सबसे अच्छे यही माने जाते हैं प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए है।

विटामिन सी युक्त फल

यदि हम विटामिन सी युक्त फलों की बात करें तो हमें नींबू संतरा मुसम्मी कीवी फल अमरूद आंवला तथा जितने भी खट्टे रसीले फल होते हैं। उनको विटामिन सी की श्रेणी में रखा जाता है इनका प्रयोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में ज्यादा मात्रा में किया जाता है। डाइटिशियन भी यही फलों के नाम बताते हैं जो कि हमारे अंदर विषैले पदार्थों को निकालने का काम करते हैं और जो भी खाया पिया होता है उसे पोषित करने काम करते हैं। यदि भूख नहीं लगती थकान लगती है किसी भी प्रकार की बीमारियां रहती हैं तो उन्हें जल्द ठीक करें में मदद देती हैं।

हल्दी का सेवन

हल्दी एक ऐसी एंटीबायोटिक तथा इम्यूनिटी पावर को मजबूत करने के लिए  प्रकृति का तोहफा है जो हमें उपयोग करने के लिए आसानी से मिल जाती है। हल्दी हर घर में प्रयोग होती किंतु उसके फायदे से बहुत कम लोग ही परिचित होते हैं हल्दी हमारे शरीर में जितने भी विषैले तथा खतरनाक पदार्थ होते हैं। उनको खत्म करके प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की ताकत देती है। हल्दी हमेशा से बहुत गुणकारी मानी जाती है। किंतु लोगों का ध्यान इस पर नहीं जाता प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए हल्दी का उपयोग दूध के साथ दे दी शाम को करें तो आपके शरीर में सहने की क्षमता रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ने लगेगी और आप पहले की अपेक्षा मजबूत महसूस करेंगे।

नारियल पानी

नारियल पानी ऐसा प्रकृति का वरदान है जो कई तरह के अपने अद्भुत फायदे के लिए लोकप्रिय है लोग ज्यादातर इसे स्राव के तौर पर यूज़ करते हैं। किंतु यदि इसके और सभी गुण के बारे में कोई बात करें तो शब्दों में इसके फायदों को नहीं बनाया जा सकता क्योंकि इसके फायदे कितने हैं कि आप इन्हें एक-एक कर नही गिना सकते इम्युनिटी को बढ़ाना है तो नारियल पानी का सेवन आपको जितना हो सके करना चाहिए उस समय ज्यादा करना चाहिए। जब बीमारी के दौरान आप जिंदगी जी रहे हैं आपको रिकवरी करने में नारियल पानी बहुत ही जल्दी बीमारियों को ठीक होने में मदद करेगा। निरंतर सेवा करने पर आपकी प्रतिरोधक क्षमता पहले की अपेक्षा बढ़ा देगा आपको भूख लगने शुरू हो जाएगी शरीर में ताकत आनी शुरू हो जाएगी खाया पिया तन को लगना शुरू हो जाएगा।

फर्मेंटेड फूड का सेवन

फर्मेंटेड फूड की बात करें तो इसका मतलब होता है जमाया हुआ भोजन इसमें दही का नंबर सबसे ऊपर आता है दही हमारे शरीर में सभी पोषक तत्वों की कमी करता है। दही खाने से हमारे पेट में होने वाली सारी समस्याओं से निजात दिलाता है पेट में जो भी बैड बैक्टीरिया होते हैं उनको सफाया कर के बाहर निकाल देता है। और अच्छे बैक्टीरिया बनाना शुरु करता जिससे शरीर में ताकत लगे भूख लगे हो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में कई गुना इजाफा हो दही का सेवन हमेशा से लोग करते हैं। डाइटिशियन भी दही के उपयोग को अमृत के समान मानते हैं।

शहद का प्रयोग

शहद एक ऐसी पैसा खाद्य पदार्थ है जो ईश्वर ने हमें वरदान के रूप में दिया है इसका सेवन इम्युनिटी पावर को बढ़ाने में बहुत जल्द आपकी सहायता करेगा क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट तत्व होने के कारण या रोगों से लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ा देता है। शरीर में यदि आपको ताकत नहीं है तो आपको शुद्ध शहद का सेवन करना चाहिए यह हमारे शरीर में कई पोषक तत्वों की कमी को ठीक करता है। उसकी पूर्ति करता है यदि आप खाली शहद ना खा पाए तो उसे आपको दूध के साथ घोलकर खाना चाहिए। सुबह शाम दोनों मीटिंग सेवन करने से आपकी प्रतिरोधक क्षमता में बहुत ज्यादा होगा आपको खुद एहसास होने लगेगा कि पहले की अपेक्षा हमारे शरीर में ताकत बढ़ी है।

गिलोय तथा मुलेठी का सेवन

गिलोय और मुलेठी का सेवन की बात करें तो यह कैसे खाद्य पदार्थ हैं जिनका कई तरीके से लोग उपयोग करते हैं गिलोय का महत्त्व किसी से छुपा नहीं है ।गिलोय एक ऐसी जड़ी है। जो आयुर्वेद में सबसे ज्यादा कमजोरी को दूर करने के लिए उपयोग की जाती है। मार्केट में गिलोय के कई तरह से प्रोडक्ट बनाए जाते हैं ताकत बढ़ाने वाली सभी प्रोडक्टों में गिलोय का सेवन किया जाता है। तथा मुलेठी की बात करें मुलेठी भरपूर औषधीय गुणों से लबरेज होता है आमतौर पर मुलेठी का प्रयोग पान खाने में किया जाता है।

किंतु इसमें प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की हमारे शरीर में मुंह में बनने वाले सलाइवा में शक्ति बढ़ाने के लिए क्षमता रखता है मुलेठी से हमारे मुंह में बनने वाली लार में बैक्टीरिया विषाणु खत्म होते हैं। और हमें भूख लगना शुरू हो जाती है मन खराब रहना खाने का मन ना करना यदि समस्या आपके पास है। जो कि हमेशा कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वालों के होती ही है उनको भूख लगने की समस्या बनी रहती है यदि यही समस्या है तो मुलेठी तथा जिलों का सेवन करना चाहिए यह समस्या इतनी जल्दी छूमंतर हो जाएगी कि आपको पता भी नहीं चलेगा।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने  के लिए 8  फल की जानकारी को पढ़कर प्रतिरोधक क्षमता को शरीर में बढ़ाने का महत्व समझ में आया होगा। और इसे ठीक करने के लिए आपको उपाय भी अच्छे लगे होंगे अभी आपको सारे उपाय अच्छे लगे तो आपको भी अप्लाई करना चाहिए। यदि आपको बार-बार किसी बीमारी से किसी भी बीमारी से जूझना पड़ता है तो आपकी इम्यूनिटी पावर कमजोर है आपको इन उपायों का सेवन करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.