सिर दर्द के कारण, लक्षण, बचाव व उपचार

सिर दर्द के कारण, लक्षण, बचाव व उपचार

हमारा शरीर मशीन की तरह होता है जिस तरह से समय-समय पर मशीन में खराबी आती रहती है उसे वैसे ही हमारी समय-समय पर कुछ न कुछ दिक्कत आती रहती है लेकिन कई बार हम इनको हल्के में ले लेते हैं जिससे आगे चलकर इन समस्याओं से हमारे शरीर में बड़े रोग जाते हैं ऐसे ही सिर का दर्द एक साधारण समस्या है लेकिन सिर के दर्द को हल्के में लेना सबसे बड़ी बेवकूफी होती है क्योंकि सिर का दर्द कई बार हमारे शरीर में बड़े रोग उत्पन्न होने से पहले आहट देता है इस लिए इस समस्या को हल्के में नहीं लेना चाहिए तो इस ब्लॉग में हम आपको सिर दर्द उत्पन्न होने के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में बात करें

सिर दर्द

वैसे तो सिर दर्द किसी भी आम इंसान को हो सकता है हालांकि सिरदर्द की समस्या कुछ समय के लिए ही रहती है और कई बार यह समस्या अपने आप भी ठीक हो जाती है लेकिन कई लोगों में सिर दर्द दवाई लेने के बाद ठीक होती हैं और कई बार इस समस्या को हम किसी आयुर्वेदिक औषधि वह जड़ी-बूटी के साथ भी ठीक कर सकते हैं लेकिन कई लोगों में सिर दर्द की समस्या इतना भयानक रूप ले लेती है कि उस इंसान का जीना दुश्वार हो जाता है और लंबे समय तक यह समस्या रहने के बाद उस इंसान को दवाइयों और जड़ी बूटियों से भी राहत नहीं मिलती

लेकिन सिर दर्द की ज्यादातर समस्या का कारण आज काल का मिलावटी खानपान और भागदौड़ भरी जिंदगी है जिससे हमारा शरीर बिल्कुल कमजोर हो जाता है और हमारा दिमाग इतना तनाव सह नहीं पाता जिससे हमारे सिर में दर्द रहने लगता है और कई बार यह समस्या कई दूसरी बीमारियों या दिक्कतों के कारण भी होने लगता है और ऐसा नहीं है कि इस समस्या का समाधान नहीं है क्योंकि इस समस्या को आप कुछ घरेलू चीजों से भी ठीक कर सकते हैं इसके लिए आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होगी सबसे पहले आपको अपनी दिनचर्या में बदलाव करना होगा

सिर दर्द के कारण

ज्यादातर लोगों में सिर दर्द का सबसे बड़ा कारण आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और इंटरनेट है क्योंकि इंटरनेट के चलते हम आजकल के क्योंकि इंटरनेट के चलते आजकल की युवा पीढ़ी खेलना कूदना बिल्कुल भूल चुकी है और पूरा दिन मोबाइल और लैपटॉप में लगे रहते हैं इसके अलावा भी सिरदर्द उत्पन्न होने के पीछे बहुत सारे कारण हो सकते हैं जैसे रोगी में किसी दूसरी बीमारी का होना, रोगी के दिमाग पर गहरी चोट लगना, रोगी का गलत चीजों का सेवन करना, रोगी का ज्यादा बीड़ी तंबाकू सिगरेट आदि का सेवन करना, रोगी का बासी भोजन का सेवन करना, रोगी का गंदी जगह पर रहना व दूषित पानी का सेवन करना, रोगी के दिमाग में तनाव बढ़ना, रोगी को पढ़ाई लिखाई, भुखमरी, बेरोजगारी,

कुपोषण पैसों आदि की समस्याओं का बोझ होना, रोगी के दिमाग में डर वह भय रहना, रोगी का ज्यादा तली भुनी हुई चीजों का सेवन करना, रोगी का लंबे समय तक भूखा रहना, रोगी का लंबे समय तक एक जगह पर अकेले रहना, रोगी के शरीर में कमजोरी व खून की कमी होना, रोगी का किसी एलर्जी वाली चीज का सेवन करना या छूना, रोगी के शरीर में गैस व तेजाब की समस्या होना, रोगी के शरीर में कब्ज की समस्या रहना, रोगी का ज्यादा एलोपैथिक दवाओं का सेवन करना, रोगी का किसी ज्यादा ठंडे या ज्यादा गर्म इलाके में काम करना, रोगी के शरीर में पानी की कमी होना, ज्यादा गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करना आदि बहुत सारे कारण हो सकते हैं

सिर दर्द के लक्षण

वैसे तो आपको सिर दर्द के लक्षणों के बारे में ज्यादा बताने की जरूरत नहीं है आप सभी को पता हुआ कि जब किसी को यह समस्या उत्पन्न होती है तो सबसे पहले उसके सिर में दर्द होता है लेकिन कई बार यह रोगी की किसी एक अंग से दूसरे अंग में भी जा सकता है जैसे कई बार लोगों की गर्दन में दर्द होता है फिर धीरे-धीरे सिर में होने लगता है कई लोगों में सिर में एक साइड दर्द होता है कई लोगों में गलत चीजों के सेवन से गैस बनने लगती है और फिर धीरे-धीरे सिर और छाती में दर्द होने लगता है

क्या करें

  • रोगी को भूख से ज्यादा भोजन नहीं खाना चाहिए
  • रोगी को हमेशा समय पर भोजन खाना चाहिए
  • रोगी को हर रोज हल्के-फुल्के व्यायाम व प्राणायाम आदि करने चाहिए
  •  रोगी को खाना खाने के बाद घूमना थोड़ा बहुत घूम लेना चाहिए
  • रोगी को हमेशा हल्का व सुपाच्य भोजन करना चाहिए
  • रोगी को ज्यादा से ज्यादा फलों व सब्जियों का सेवन करना चाहिए
  • रोगी को हर रोज सुबह मल मूत्र को त्याग देना चाहिए
  • रोगी को ज्यादा ही ज्यादा पानी पीना चाहिए
  • रोगी को एलर्जी वाली चीजों से बच के रहना चाहिए
  • रोगी को कमजोरी थकान आलस जैसी समस्या से बच कर रहना चाहिए
  • रोगी को ज्यादा से ज्यादा दूध और अखरोट, बादाम किसमिस आदि का सेवन करना चाहिए
  • रोगी को बार-बार सिर दर्द की समस्या होने पर अपने सिर का टेस्ट करवा कर दवाई लेनी चाहिए

क्या नहीं करना चाहिए

  • रोगी को पूरा दिन एक जगह पर बैठे नहीं रहना चाहिए
  • रोगी को कम रोशनी में पढ़ाई नहीं करनी चाहिए
  • रोगी को पूरा दिन मोबाइल लैपटॉप आदि का यूज़ नहीं करना चाहिए
  • रोगी को ज्यादा गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन नहीं करना चाहिए
  • रोगी को बे मौसमी वह बासी भोजन का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए
  • रोगी को खाली पेट तली हुई चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए
  • रोगी को दूषित पानी व दूषित भोजन का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए
  • रोगी को ज्यादा ठंडे व ज्यादा गर्म इलाके में काम करने से बचना चाहिए
  • रोगी को शराब तंबाकू बीड़ी सिगरेट आदि का सेवन नहीं करना चाहिए
  • रोगी को भोजन करने के तुरंत बाद सोना नहीं चाहिए
  • रोगी को मानसिक रोग जैसे हिस्टीरिया चिंता मानसिक तनाव आदि समस्याओं से बचने की कोशिश करनी चाहिए
  • रोगी को अपने शरीर में कब्ज की समस्या बिल्कुल भी उत्पन्न नहीं होने देनी चाहिए

लेकिन फिर भी अगर किसी को बार-बार सिरदर्द की समस्या उत्पन्न हो रही है तब उसको तुरंत डॉक्टर के पास अपने टेस्ट आधी करवाने चाहिए और दवाइयां लेनी चाहिए या आप कुछ आयुर्वेदिक औषधियों में दवाइयों का भी इस्तेमाल करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं जिनके बारे में हमने आपको नीचे बताया है इन सभी को ऑफ डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इस्तेमाल करें]

सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण इन हिंदी सिर के पीछे दर्द के कारण कान के ऊपर सिर में दर्द सिर की नसों में दर्द होना सिर के पिछले हिस्से में दर्द का इलाज सिर दर्द के घरेलू उपाय गैस के कारण सिर दर्द पुराना सिर दर्द का इलाज

Leave A Reply

Your email address will not be published.